आयें आज सही अर्थों में हम कारवां बनायें

राष्ट्रीय परिप्रेक्ष्य में आज जो कुहासा छाया हुआ है इसका हल केवल राष्ट्रीय जनमानस के पास ही है नेताओं और संस्थानों से अपेक्षा के बिना जो मानवीय सैलाव सड़कों पर उतरा है उसे सही दिशा में ले जाते हुए सच्चे अर्थों में राष्ट्रीय चेतना के रूप में परिवर्तित करने की क्षमता बुद्धिजीवी वर्ग में ही है.. ग्लैमर की दुनिया से अप्रभावित रहकर आयें आज सही अर्थों में हम एक कारवां बनायें. जाति वर्ग धार्मिक आस्थाओं के भेदसे विहीन एक नए समाज का …… प्रयास जारी रखें और सच्ची राष्ट्रीय चेतना की इस लौ को किसी को बुझाने न दें

Advertisements

7 टिप्पणियाँ (+add yours?)

  1. Anonymous
    दिसम्बर 06, 2008 @ 05:16:00

    Shreekant ji you have written very correct in your article and i am very much agreed. this is the time when we know that our future is not safe in the hands of politicians…. we have to stand together….Neha

    प्रतिक्रिया

  2. Udan Tashtari
    दिसम्बर 06, 2008 @ 05:48:00

    एक जरुरी पहल!!

    प्रतिक्रिया

  3. रचना
    दिसम्बर 06, 2008 @ 06:00:00

    http://indianwomanhasarrived.blogspot.com/2008/12/blog-post_05.htmlplease samay nikaal karey isko padhey aur phir aap bhi kuch apne blogpar daaley

    प्रतिक्रिया

  4. कुश
    दिसम्बर 06, 2008 @ 07:17:00

    ये लौ हमने तो जला दी है..

    प्रतिक्रिया

  5. Anonymous
    दिसम्बर 06, 2008 @ 08:59:00

    इन नेताओ को हमने बनाया है और हम ही इन्हे हटाने का अधिकार रखते है यदि हमें आगे जाके इन्हे देश के सत्ता से निकालना पड़ा तो हम पीछे नही हटेंगे ये देश हमारा है जनता का न की नेताओ के जागीर मै इस लडाई मै जनता के साथ हूँ श्रीकान्त जी. ताशु

    प्रतिक्रिया

  6. Anonymous
    दिसम्बर 06, 2008 @ 09:06:00

    manyawar netao ne sirf janta ka shoshan kiya hai wo jo karte hai dikhawa matr hota hai hame unki santwana nahi cahiye hamkhud kahde hosakte hai.priti

    प्रतिक्रिया

  7. निरन्तर - महेंद्र मिश्रा
    दिसम्बर 06, 2008 @ 11:08:00

    सामयिक जरुरी पहल करने के लिए धन्यवाद.

    प्रतिक्रिया

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: