एक और नये खतरे की घण्टी बज चुकी है……[समाचार प्रतिक्रिया] – श्रीकान्त मिश्र ’कान्त’

अपने ही देश में सैनिकों को कोयम्बटूर के पास खदेड़ने की घटना ……. खतरे की घण्टी बज चुकी है……

विगत दिवस कोयम्बटूर के पास आर्मी के कानवाय पर तथाकथित लिट्टॆ समर्थकों द्वारा हमला करके आर्मी की युनिफ़ार्म पहने सैनिकों का अपने ही देशवासियों द्वारा खदेड़ा जाना राष्ट्रीय जनमानस के लिये बहुत ही अशुभ संकेत है. पहले से ही पाकिस्तान प्रेरित आतंकवाद और नक्सली समस्या से प्रभावित भारतवर्ष के लिये अब ’लिट्टे समर्थन’ के नाम पर मात्र राजनीतिक लाभ के लिये तमिल भावना को गलत दिशा देते हुये अपने सैनिकों के साथ इस प्रकार का वर्ताव नितान्त निन्दनीय राष्ट्रविरोधी दुष्कृत्य है.

सैनिकों ने बहुत ही संयम का परिचय देते हुये हुल्लड़ मचाती भीड़ से ट्कराव बचा लिया अन्यथा हथियारबन्द सैन्य समूह की थोड़ी सी भी असवधानी के दूरगामी परिणाम हो सकते थे. अपने देशवासियों से ट्कराव बचाने उनका प्रयास सराहनीय है. सैनिकों द्वारा टकराव बचाने के लिये तथाकथित तमिल भीड़ के उपद्रवी लोगों के सामने से हट जाने को भीड़ के नेता अपनी शेखी से भले ही जोड़ लें किन्तु यह नितान्त राष्ट्रद्रोह है. आगामी समय के लिये खतरे की घण्टी बज चुकी है…… जागो हिन्दुस्तान जागो.. !!!
Advertisements

1 टिप्पणी (+add yours?)

  1. P.N. Subramanian
    मई 04, 2009 @ 17:38:00

    करूणानिधि की पार्टी प्रारंभ से ही अलगाव वादी रही है. केंद्र में सत्ता में आने के लिए सभी विवेकहीन हो जाते हैं. देश के दुश्मनों से भी साथ गाँठ कर लेते हैं.

    प्रतिक्रिया

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: